Sunday, January 7, 2018

मुन्नार ग्राम पंचायत में आपका स्वागत है...

केरल का सबसे लोकप्रिय हिल स्टेशन मुन्नार। दुनिया के दस बेहतरीन टूरिस्ट डेस्टिनेशन में शामिल है मुन्नार । पर ये मुन्नार है क्या। क्या कोई शहऱ। नहीं जी। ये तो केरल के थेकाडी जिले की एक ग्राम पंचायत है। यानी की अभी तक मुन्नार गांव ही है। नगर पंचायत का भी दर्जा नहीं मिला है। पर गांव है तो क्या हुआ, यह तो और भी अच्छी बात है। हमें मुन्नार के आटो वाले बताते हैं कि मुन्नार कभी केरल की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत हुआ करता था। पर अब इससे देवीकुलम तालुक के कुछ हिस्से अलग कर दिए जाने के बाद भी ग्राम पंचायत का दायरा बड़ा है।
कुल 187 वर्ग किलोमीटर में फैला मुन्नार अब भी इडुकी जिले की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत है।

मुन्नार ग्राम पंचायत का गठन 1961 में हुआ। इसमें कुल 21 वार्ड या बसावटे आती हैं। पर गांव है तो क्या हुआ। यहां पर राज्य सरकार की ओर से आधारभूत संरचनात्मक विकास के सारे काम किए गए हैं। सीमा में दो छोटे छोटे बस स्टैंड हैं।
संयोग से मैं जिस होटल में ठहरा हूं उसके पास ही एक मुन्नार ग्राम पंचायत भवन का विशाल दफ्तर है। इसी दफ्तर में मुन्नार से जुडे हुए सभी प्रशासनिक कार्य होते हैं। दफ्तर के बाहर गांधी जी की प्रतिमा स्थापित है। कई मामलों में मुन्नार का गांव का अस्तित्व बरकरार है। यहां पर बड़े बड़े शापिंग माल नहीं नजर आते। हालांकि तमाम लग्जरी होटल जरूर बन गए हैं। खाने पीने के रेस्टोरेंट भी हैं। हास्पीटल भी है। पर इन सबके बावजूद मुन्नार एक गांव ही है।

शब्दों के लिहाज से जाएं तो मुन्नार का मलयालम में मतलब तीन नदियों से है। कुंडाली, मुधारीपुजा और नालाथानी तीन नदियों के पास बसे होने के कारण इसका नाम मुन्नार पड़ा।
 मुन्नार का मुख्य इलाका ओल्ड मुन्नार है। इस इलाके में ही मुख्य बाजार और खाने पीने के स्टाल और होटल आदि हैं। वैसे कोचीन की तरफ से जाते समय ओल्ड मुन्नार  के बस स्टैंड से दो किलोमीटर पहले से ही बाजार आरंभ हो जाता है। अगर आपके पास अपना वाहन नहीं है तो आपको ओल्ड मुन्नार में ही किसी होटल में अपना ठिकाना बनाना चाहिए।

वैसे तो मुन्नार केरल का हिल स्टेशन है, पर यह पड़ोसी राज्य तमिलनाडु में कोयंबटूर से पोल्लची और उदुमलाईपेट्टई के रास्ते जुड़ा है। केएसआरटीसी की बसें और निजी बसें भी मुन्नार को आसपास के राज्यों से जोड़ती हैं। आप यहां पर ऊटी, कोयंबटूर, मदुरै, कोडइकनाल आदि स्थलों से भी पहुंच सकते हैं।
केरल के स्थानीय लोगों की मातृभाषा मलयालम है। पर मुन्नार में लोग अंगरेजी और हिंदी भी खूब समझते और बोल लेते हैं। इसलिए यहां भाषा की कोई समस्या नहीं है।

मुन्नार में क्या देखें – फ्लावर गार्डन, मुट्टुपेटी डैम, एरावीकुलम नेशनल पार्क, अथाकुड वाटर फाल्स। चाय के बगान। स्पाइस गार्डन। कथककली का शो। कुंडाला डैम, टॉप स्टेशन, चित्रापुरम के चाय के बगान। मुन्नार में चाहे आप कितना भी वक्त गुजारें आपकी मर्जी है पर कम से कम तीन दिन जरूर यहां रहें तो अच्छा रहेगा।

1600 मीटर (5200 फीट ) की ऊंचाई पर स्थित है मुन्नार।

187 वर्ग किलोमीटर में है मुन्नार पंचायत का विस्तार

38 हजार के आसपास है मुन्नार पंचायत की आबादी

13 से 26 डिग्री के बीच रहता है सालों भर तापमान

- vidyutp@gmail.com
( MUNNAR , GRAM PANCHYAT,  IDUKI, KERALA ) 


No comments:

Post a Comment