Friday, November 6, 2015

पुडुचेरी शहर का मस्ती भरा संडे मार्केट

नाम से पुडुचेरी ऐसा लगता है मानो यह दमन दीव जैसा कोई समुद्र तटीय राज्य होगा। है भी वैसा ही। पर पुडुचेरी शहर के मुख्य बाजार का चाक चिक्य किसी दिल्ली के करोल बाग  मुंबई के हीरा पन्ना मार्केट से कम नहीं है। शहर का दिल जवाहर लाल नेहरू स्ट्रीट पर धड़कता है। विनायक मंदिर के पास से आप नेहरू स्ट्रीट पर पैदल चलते जाएं, दाहिने और बाएं तरफ एक से बढ़कर एक शोरूम के साथ स्ट्रीट  पर बाजार मिलेगा, दिल्ली के अजमल खां रोड की तरह। पैराडाइज बीच पर घूमते हुए एक युवती ने पूछा था कि यहां संडे बाजार किधर लगता है। 

पार्किंग फ्री और शॉपिंग सस्ती -  विनायक मंदिर से निकलने के बाद हमें पता चला कि नेहरू स्ट्रीट पर ही संडे मार्केट लगता है। हम चलते गए। कहीं हैंडीक्राफ्ट का बाजार तो कहीं झूमके बेचते राजस्थानी लोग। फुटपाथ पर हर तरह की चीजें बिक रही थीं। संडे मार्केट न सिर्फ पुडुचेरी के स्थानीय लोगों के लिए बल्कि सैलानियों के लिए बड़ा आकर्षण का केंद्र है। मजे की बात कि हमें भी इस संडे बाजार में कई चीजें पसंद आ गईं। तो खरीद भी लिया। इस जवाहर लाल नेहरू स्ट्रीट को कई अलग अलग सड़के जोड़ती हैं जिसमें अलग अलग तरह के बाजार हैं। इन बाजारों में सामान बेचने वाले उत्तर प्रदेश और राजस्थान तक के लोग हैं। बाजार देर रात 11 बजे तक खुला रहता है। पुडुचेरी शहर का दायरा बहुत बड़ा नहीं है, इसलिए घर पहुंचने को लेकर कोई चिंता नहीं है। आपके पास अपनी कार और बाइक है तो और भी चिंता की बात नहीं। पार्किंग फ्री शापिंग सस्ती।

इसी जवाहर लाल नेहरू स्ट्रीट के आखिरी छोर पर पुडुचेरी का सब्जी बाजार है। उसकी रौनक सुबह में होती है। लोगों की सुविधा के लिए अलग अलग दिन कई सड़कों को वन वे कर दिया जाता है। सड़कों के किनारे फुटपाथ पर ही बाइक के लिए फ्री पार्किंग बना दी जाती है। चिंता न करें यहां बाइक चोरी के मामले नहीं आते। ऐसा लगता है मानो यहां राम राज्य है। काश ऐसा हमारे उत्तर भारत के शहरों में भी होता।  नेहरू स्ट्रीट के अलावा महात्मा गांधी स्ट्रीट, लाल बहादुर शास्त्री स्ट्रीट भी शहर के प्रमुख बाजार हैं।

अडयार आनंद भवन का सुस्वादु भोजन -  पुडुचेरी के विनायक मंदिर के दर्शन के बाद हमने एक दुकानदार से पूछा कोई शाकाहारी भोजन का अच्छा विकल्प बताएं। उन्होंने कहा आप अडयार आनंद भवन चले जाएं। अरविंदो आश्रम के पास नेहरू स्ट्रीट क्रास पर अडयार  ( ए टू बी) शहर का सबसे लोकप्रिय शाकाहारी भोजनालय है। भीड़ इतनी होती है कि आपको सीट के लिए इंतजार करना पड़ सकता है। दो तरफ बोर्ड पर मीनू लगे हैं उन्हें देखकर आर्डर करें। लाइन में लग कर बिल जमा करें। लाइन में कर अपना आर्डर प्राप्त करें फिर बैठकर खाने के स्वाद लें। आर्डर लेने वाले सख्श के पास माइक लगा है जिससे वह किचेन में आर्डर पहुंचाता है। नार्थ इंडियन थाली, 110, साउथ इंडियन मिनी थाली 80, मसाला डोसा 55 पाव भाजी 50 इसके अलावा सैकड़ो विकल्प है,  हल्का फुल्का और भारी खाने के। उसके बाद मिठाइयां और नमकीन भी। भुगतान क्रेडिट कार्ड से भी संभव है। हमें अगले दो दिन भी अडयार आनंद भवन का ही स्वाद लेते रहे। कहीं और क्यों जाना।


इंडियन कॉफी होम का स्वाद - नेहरू स्ट्रीट पर चलते हुए इंडियन कॉफी होम का बोर्ड नजर आया।अनादि बोले कोल्ड काफी पीउंगा। 25 रुपये की कोल्ड काफी।मजेदार। ये वहीं इंडियन काफी होम है जो शिमला के माल और दिल्ली के मोहन सिंह पैलेस में है। पर पुडुचेरी का काफी होम खूब चलता है। यहां आप सांबर राइस, कर्ड राइस, लेमन राइस और बिरयानी भी खा सकते हैं। अपने पुडुचेरी प्रवास के दौरान हमने कई बार कॉफी हाउस में खाने का स्वाद लिया। वैसे नेहरू स्ट्रीट पर सरवना भवन पुडुचेरी भी मौजूद है।  
vidyutp@gmail.com

( PUDUCHERRY, SUNDAY MARKET, INDIAN COFFEE HOME ) 

No comments:

Post a Comment