Wednesday, March 4, 2015

सेबों का राजा - किन्नौर के सेब

वैसे तो सेब अपनी गुणवत्ता के लिए फलों में खास स्थान रखता है। पर हर जगह के सेब की अपनी खासियत होती है। भारत में उत्पादित होने वाले सेब में हिमाचल प्रदेश के किन्नौर के सेब अपनी प्राकृतिक मिठास, रंग और रसीलेपन के लिए जाने जाते हैं।

कश्मीर में सोपियां जिले का सेब बेहतर माना जाता है। पर करीब 10 हजार फुट की ऊंचाई पर पैदा होने वाले किन्नौर के सांगला और पोह ब्लॉक में पैदा होने वाले इस सेब की दो प्रजातियां-रॉयल और गोल्डन-बेहद लोकप्रिय हैं। बीते साल इसका औसतन मूल्य 250 रुपये प्रतिकिलो था और किन्नौर के चांगो, में हर साल एक लाख पेटी (10 किलोग्राम की एक पेटी) सेब का उत्पादन होता है।

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले के सेब बाजार पहुंचते हैं तो इन्हें दिल्ली, चण्डीगढ़ जैसे शहरों के साथ पंजाब और हरियाणा में सबसे ऊंची कीमत मिलती है। अन्य जिलों से आ रहे सेब के मुकाबलले 25-30 फीसदी महगा बिकता है किन्नौरी सेब।
किन्नौर में 10 हजार फुट से अधिक ऊंचे क्षेत्रों में सेब के बागान हैं। ये बागान मुख्यत: सांग्ला, कल्पा, चांगो, निहार और पूह जिले में हैं। कई बार खुदरा कारोबारी  हिमाचल प्रदेश के अन्य हिस्सों के सेब को किन्नौरी सेब बताकर बेचना शुरू कर देते है, लेकिन सच्चाई यह है कि किन्नौरी सेब अक्टूबर में ही बाजार में पहुंचने शुरू होते हैं।

अगर पिछले कुछ वर्षों के आंकड़ों पर नजर डालें तो किन्नौर जिला में हर साल सेब की पैदावार कम हो रही है। इस कारण यहां के बागवानों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। वहीं, हर साल कम हो रही सेब की पैदावार भी बागवानों के लिए भी चिंता का कारण बना गया है। वहीं, किन्नौर में लगातार धंस रही जमीन और मौसम में बदलाव भी एक कारण है। 

किन्नौर के सेब की मांग देश के अलावा विदेश में भी है। यह सेब लंबे समय तक सुरक्षित रहता है। जबकि निचले क्षेत्र के अधिक मिठास और रस इस सेब में होता है। 
अंग्रेजी में कहा गया है, एन एपल ए डे, कीप्स द डॉक्टर अवे। मतलब एक सेब रोज खाओ और डॉक्टर को दूर भगाओ। सेब पौष्टिक तत्वों से भरा है। ये न केवल रोगों से लड़ने में मदद करता है बल्कि आपके शरीर को भी स्वस्त रखता है। वैज्ञानिक अध्ययनों से पता चला है कि सेब के सेवन से ह्वदय रोग, कैंसर, मधुमेह के साथ ही दिमागी बीमारियों जैसे पार्किंसन और अल्जाइमर आदि में भी आराम मिलता है।
vidyutp@gmail.com

( APPLE, KINNOR, HIMACHAL, GOLDEN, ROYAL ) 

No comments:

Post a Comment