Wednesday, March 11, 2015

दमन – कोस्टगार्ड और व्यापार का बड़ा केंद्र

दमन में अरब सागर से लगा हुआ 12.5 किलोमीटर लंबा समुद्र तट है। यहा से पाकिस्तान की सीमा बहुत दूर नहीं है। इसलिए ये इलाका सामरिक दृष्टि से संवेदनशील है। सुरक्षा के लिहाज से यहां भारत के तटरक्षक बल यानी इंडियन कोस्टगार्ड्स का बड़ा केंद्र है। यहां इंडियन कोस्ट गार्ड का एयर स्टेशन भी है। यहां पर शक्तिशाली एयरपोर्ट सर्विलांस रडार (एएसआर) लगाया गया है जो आसमान में चौकस निगाहें रखता है।

पुर्तगाली शासन के समय से ही दमन का समुद्र तटीय इलाका तस्करी का बड़ा केंद्र हुआ करता था। इसलिए अब भी यहां तटीय सुरक्षा काफी महत्व रखती है। किसी जमाने में दमन के समुद्री तट से बड़े पैमाने पर सोने की तस्करी हुआ करती थी। सुकर नारायण बथिया किसी जमाने में दमन का बड़ा तस्कर हुआ करता था जो कुख्यात तस्कर हाजी मस्तान का साथी बन गया था। हाजी मस्तान की जिंदगी में सबसे बड़ा मोड़ 50 के दशक में आया। उसकी दोस्ती दमन के तस्कर सुकुर नारायण से हुई। कहा जाता है कि बथिया का 1970-80 के दशक तक दमन पर सख्त नियंत्रण हुआ करता था। पर अब हालात बदल चुके हैं।


उद्योगों को बड़ा केंद्र – आज दमन बड़ा औद्योगिक केंद्र है। खास तौर पर ये प्लास्टिक इंडस्ट्री के लिए जाना जाता है। देश के सभी जाने माने प्लास्टिक ब्रांड की उत्पादन इकाइयां दमन में स्थित हैं। दमन में छोटी बड़ी 3000 के करीब औद्योगिक इकाइयां हैं। नीलकमल, प्रिंस, नयासा जैसे तमाम प्लास्टिक के लोकप्रिय ब्रांडों के उत्पाद दमन के बने हुए हो सकते हैं। यहां के निर्माता तमाम बड़ी कंपनियों के उत्पादों लगने वाले प्लास्टिक कंपोनेंट भी बनाते हैं। दमन दुनिया के कई देशों में प्लास्टिक उत्पादों की सप्लाई भी करता है। उद्योगों का असर आबोहवा पर तो पड़ता है। इसके बावजूद दमन में बड़ी संख्या में सैलानी आते हैं।

मोटी दमन में आज भी पुर्तगाली संस्कृति की झलक देखी जा सकती है। यहां पर पुर्तगाली वास्तुकला से बने हुए भवन और चर्च हैं तो यहां की जीवन शैली में भी इसकी खुशबू महसूस की जा सकती है। वहीं मोटी दमन से तीन किलोमीटर आगे जांपोर बीच सैलानियों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र है। यहां समुद्र तट पर खाने पीने की अस्थायी दुकाने हैं। जांपोर बीच हमेशा सैलानियों से गुलजार रहता है।

देवका बीच में एक पंक्ति में कई बडे होटल और रिजार्ट हैं। ज्यादातर होटलों में समुद्र तट के किनारे रेस्टोरेंट हैं। यहां आप रहने के साथ समुद्र तट पर बने रेस्टोरेंट में खाने पीने का आनंद उठा सकते हैं। पड़ोसी राज्य गुजरात में शराब बंदी है। इसलिए सूरत, वलसाड, अंकलेश्वर के लोग बडी संख्या में शनिवार और रविवार को सोमरस पान के लिए दमन का रुख करते हैं। तब यहां को होटल सूरत के व्यापारियों से भरे रहते हैं। देवका बीच पर स्थित होटलों के बीच  होटल ओसन इन, नानी दमन, देवका बीच http://www.hoteloceaninn.in/ और होटल प्रिंसेज पार्क - http://www.hotelprincesspark.in/ काफी लोकप्रिय हैं, जहां आप लजीज खाने का आनंद उठा सकते हैं।

No comments:

Post a Comment