Friday, January 30, 2015

रायपुर में टैक्सी में दौड़ने लगी नैनो

टाटा की नन्ही कार नैनो अब टैक्सी में दौड़ने लगी है।  इसकी शुरूआत हो रही है छतीसगढ़ की राजधानी रायपुर से। रायपुर की रेडियो टैक्सी सेवा में नैनो दौड़ने लगी है। इसके लिए कुछ नैनो टैक्सियां तो रायपुर की सड़कों पर प्रयोग के तौर पर उतर चुकी हैं वहीं 40 टैक्सियां नैनो प्लांट की ओर से बनकर रायपुर में उतर रही हैं। ये सभी नैनो टैक्सियां पेट्रोल चलित हैं। रायपुर शहर का गुरूकृपा मोटर्स इन्हे टैक्सी सेवा में संचालित कर रहा है। इसके लिए राज्य सरकार से अनुमति ले ली गई है।

पूरे देश में रायपुर ऐसा पहला शहर है जहां पर नैनो कार टैक्सी सेवा में दौड़ती हुई नजर आएगी। इसका शुरुआती किराया 50 रुपये है जो एक किलोमीटर के लिए है। इसके बाद 5 किलोमीटर के लिए 98 रुपये वहीं 10 किलोमीटर के लिए 158 रुपये किराया तय किया गया है। नैनो टैक्सी की ये खास बात है कि इसके अंदर सीसीटीवी कैमरा लगा है। यात्रियों की बातचीत की वीडियो और आडियो रिकार्डिंग होगी। साथ ही टैक्सी में पैनिक बटन भी लगाया गया है। इसे महिलाओं के लिए भी पूरी तरह सुरक्षित बनाया गया है। रेडियो टैक्सी में जीपीएस सिस्टम लगा हुआ है। हर टैक्सी की लोकेशन कंट्रोल रूम को लगातार दिखाई देती रहती है। टैक्सी बुलाने के लिए आपको काल सेंटर के नंबर पर फोन घुमाना होगा। सभी नैनो टैक्सियां वातानुकूलित हैं। इनका किराया इतना कम रखा गया है कि यह आटो रिक्शा बुक कराने के बराबर सस्ती हों। हालांकि दिल्ली की सस्ती कैब सेवा से तुलना करें तो इसका प्रारंभिक किराया ज्यादा है। टैक्सी फार श्योर 49 रुपये किराया शुरुआती 4 किलोमीटर के लिए वसूल करती है।

 
रायपुर की नैनो टैक्सी के साथ ड्राइवरों को रोजगार देने और स्वावलंबी बनाने की भी योजना है। कंपनी के साथ अनुबंध पर लगातार 3 साल टैक्सी चलाने के बाद नैनो कार ड्राइवर की अपनी हो जाएगा। इस तीन साल के दौरान एक निश्चित रकम ड्राइवर को हर माह कंपनी को अदा करना है। हालांकि श्रीलंका में साल 2011 से ही नैनो कार टैक्सी के रूप में संचालित की जा रही है। वहां मध्यम वर्ग के लोगों में नैनो टैक्सी काफी लोकप्रिय है।
नगर निगम के सामने लगे आटो एक्सपो में 13 जनवरी को नैनो टैक्सियां मुझे डिस्प्ले में लगीं दिखाई दे गईं। बाद में समाचार पत्रों से मालूम हुआ कि 26 जनवरी को निर्भया टैक्सी सेवा के नाम से इनका संचालन शुरू हो गया है।
-vidyutp@gmail.com






No comments:

Post a Comment