Monday, June 16, 2014

तेलंगाना - भारत का 29वां पूर्ण राज्य

दो जून 2014 को देश के 29वें पूर्ण राज्य के तौर पर तेलंगाना का जन्म हुआ। आंध्र प्रदेश से अलग होकर बने इस राज्य की राजधानी हैदराबाद होगी। 17 फरवरी 1954 को जन्मे कलवकुंतला चंद्रशेखर राव तेलंगाना के पहले मुख्यमंत्री बने। तेलंगाना शब्द का अर्थ है - तेलुगूभाषियों की भूमि। नया राज्य तेलंगाना पिछले चार दशकों से यहां लोगों के संघर्ष और बलिदान की परिणाम है।

संघर्ष गाथा - तेलंगाना मूल रूप से हैदराबाद के निजाम की रियासत का हिस्सा था। वर्ष 1948 में भारत ने निजाम की रियासत को खत्म करके हैदराबाद राज्य की नींव रखी।
1948 में पहली बार कामरेड वासुपुन्यया ने अलग तेलंगाना राज्य की मुहिम शुरू की। वासुपुन्यया का सपना भूमिहीन किसानों को जमींदार बनाना था। मगर कुछ साल बाद इस आंदोलन की कमान नक्सलियों के हाथों में चली गई। इसी बीच 1956 में तेलंगाना के एक बड़े हिस्से को आंध्र प्रदेश में शामिल कर लिया गया, जबकि कुछ हिस्से कर्नाटक और महाराष्ट्र में मिला दिए गए।
1969 में तेलंगाना आंदोलन फिर शुरू हुआ। इस बार इसका मकसद इलाके का विकास था और इसमें बड़ी तादाद में छात्र आंदोलन में सक्रिय थे। उस्मानिया विश्वविद्यालय इस आंदोलन का प्रमुख केंद्र था। इस आंदोलन के दौरान पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज में मारे गए सैकड़ों छात्रों की कुर्बानी ने इसे ऐतिहासिक बना दिया।

1971 में कांग्रेस पार्टी ने तेलंगाना क्षेत्र के पीवी नरसिंह राव को भी आंध्र प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाकर तेलंगाना आंदोलन को कमजोर किया।
2001 में के चंद्रशेखर राव की अगुवाई में अलग तेलंगाना राज्य की मांग फिर तेज हुई। नाराज केसीआर ने तेलुगु देशम पार्टी को अलविदा कह नई पार्टी बनाई।
27 अप्रैल 2001 को केसीआर तेलंगाना राष्ट्र समिति नामक दल का गठन किया जिसका मुख्य मांग की अलग तेलंगाना राज्य बनाने की थी।
2004 में कांग्रेस ने अलग तेलंगाना राज्य के गठन को समर्थन देते हुए केसीआर से गठबंधन किया मगर इस बार भी वादाखिलाफी हुई। आंध्र के मुख्यमंत्री रहे वाईएसआर ने भी अलग तेलंगाना राज्य के गठन को तरजीह नहीं दी।

ऐसा है राज्य
- 10 जिले हैं तेलंगाना में। हैदराबाद, रंगारेड्डी, अदिलाबाद, खम्मम, करीमनगर, महबूबनगर, मेडक, नलगोंडा, निजामाबाद और वारंगल।
- 119 विधानसभा सीटें और लोकसभा 17 सीटें हैं नए राज्य में। 
- 30 अप्रैल को हुए विधान सभा चुनाव में 63 सीटें जीतकर बहुमत में है टीआरएस।
- 84% हिंदू, 12.4% मुस्लिम और 3.2% सिख, ईसाई और अन्य धर्म के लोग हैं राज्य में।
- 76% लोग तेलुगु 12% उर्दू तथा 12% लोग अन्य भाषाएं बोलते हैं तेलंगाना में।


राज्य का निर्माण : कदम दर कदम
30 जुलाई 2013 : यूपीए ने तेलंगाना के गठन पर सर्वसम्मति से सहमति दी।
05 दिसंबर 2013 : मंत्रिसमूह द्वारा बनाए ड्राफ्ट बिल को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी।
18 फरवरी 2014 : आंध्र प्रदेश पुर्नगठन बिल 2014 को लोकसभा ने भाजपा के समर्थन से पास किया।
21 फरवरी 2014 : तेलंगाना पर संसद की मुहर, कर्मचारियों के आवंटन के लिए समितियां बनीं।

01 मार्च 2014 : तेलंगाना बिल पर राष्ट्रपति की मुहर।

--vidyutp@gmail.com   ( TELANGANA, NEW STATE, HYDRABAD ) 

No comments:

Post a Comment