Thursday, June 26, 2014

कोई नहीं आता फूल चढ़ाने देशरत्न की समाधि पर

पटना के बांसघाट के पास देशरत्न की समाधि। फोटो- विद्युत
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की समाधि दिल्ली में यमुना तट पर है। इसके साथ कई किलोमीटर लंबी हरित पट्टी है जहां दूसरे प्रधानमंत्रियों की भी समाधि है। इस क्षेत्र में कई सौ एकड़ जमीन संरक्षित रखी गई है। हजारों लोग रोज इन समाधियों को देखने आते हैं। पर देश के महान सपूत और पहले राष्ट्रपति डाक्टर राजेंद्र प्रसाद की समाधि कहां है।


ये समाधि पटना में गंगा तट पर बांसघाट के बगल में है। समाधि के आसपास कोई भव्यता नहीं है। सड़क की चौड़ाई भी ज्यादा नहीं है। समाधि स्थल के ठीक बगल में बांस घाट में अनवरत शवदाह चलता रहता है जिसका धुआं देशरत्न डाक्टर राजेंद्र प्रसाद की समाधि के पास आता रहता है। आप पर्यटक के तौर पर समाधि को देखने जाएं तो समाधि के द्वार पर ताला लगा दिखाई देता है। अंदर जाकर देश रत्न को नमन करना भी मुश्किल है।

डाक्टर राजेंद्र प्रसाद 10 साल देश के सर्वोच्च पद पर रहने के बाद अवकाश प्राप्त करने के बाद 14 मई 1962 को पटना लौट आए। उन्होंने कोई सरकारी आवास नहीं लिया और बाकी के दिन सदाकत आश्रम में बिहार विद्यापीठ में गुजारना पसंद किया।  28 फरवरी 1963 को उन्होंने अंतिम सांस ली। 

उनका अंतिम संस्कार पास के ही बांसघाट के पास किया गया। कई साल बाद यहां पर उनकी पक्की समाधि जरूर बना दी गई। पर समाधि के ररखाव का हाल बुरा है। हर साल 3 दिसंबर को देशरत्न की जयंती पर नेतागण पर पुष्पांजलि देने जरूर आते हैं। पर शेष 364 दिन कोई नहीं पूछता। गांधी नेहरु की समाधि पर फूल चढ़ाने लोग हजारों लोग पहुंचते हैं पर देशरत्न की समाधि के बारे में पटना में भी जागरूकता की भारी कमी है। जरूरत है कि समाधि स्थल को ऐसा बनाया जाए जिससे नई पीढ़ी इस महान व्यक्तित्व से प्रेरणा ले सके।




बिहार की राजनीति में सक्रिय युवा नेता राघवेंद्र सिंह कुशवाह समाधि के कायाकल्प की मांग कर रहे हैं। उनकी मांग है कि समाधि के बगल से शवदाह गृह को दूर हटाया जाए। समाधि के पास राजघाट की तरह अखंड ज्योति प्रज्जवलित की जाए। समाधि स्थल के आसपास का सौंदर्यीकरण किया जाए। साथ ही यहां पर राजेंद्र प्रसाद से जुड़े हुए साहित्य के बिक्री और वितरण का इंतजाम किया जाए। इन कदमों से आने वाली पीढ़ी को देशरत्न से प्रेरणा मिल सकेगी।


( समाधि के सौंदर्यीकरण के लिए 6 जुलाई 2014 को पटना में समाधि स्थल पर धरना  देंगे सर्वजन समाज के लोग)


- विद्युत प्रकाश मौर्य

 ( PATNA, DESHRATNA DR RAJENDRA PRASAD ) 

1 comment:

  1. आपने इस ब्लॉग के माध्यम से कई मौलिक विषयों को उठाया है। आपका प्रयास सराहनीय है...

    ReplyDelete