Wednesday, April 16, 2014

सबसे सस्ता सुगम परिवहन का साधन है ट्राम

ट्राम कोलकाता की ऐतिहासिक विरासत की गवाह है। अगर हम मेट्रो ट्रेन या बसों से तुलना करें तो महानगर के लिए ट्राम दुनिया में सबसे सस्ता सुगम और इको फ्रेंडली परिवहन का साधन है। इसे गरीबों का वाहन भी माना जाता है। पर ये अमीरों के लिए भी आदर्श है। बिजली से संचालित होने के कारण डीजल से होने वाले प्रदूषण इसमें नहीं होता है। ट्राम का सपऱ बूढ़े और बच्चों के लिए आदर्श है। प्लेटफार्म नीचा होने के कारण इसमें चढ़ना उतरना आसान है।

आमतौर पर कोई भी बस महज 60 सवारियां ढोती है जबकि ट्राम में 300 लोग सवार हो सकते हैं। कोलकाता में रहने वाले बड़ी संख्या में लोग आज भी बस या मेट्रो की तुलना में ट्राम से सफऱ करना पसंद करते हैं। मेट्रो रेल की तरह इसके निर्माण और रखरखाव में अधिक खर्च नहीं है। ट्राम के ट्रैक आमतौर पर सडक मार्ग के समानांतर या उसके बीचों बीच बनाए जाते हैं। महज दो डिब्बे होने के कारण ट्राम भीड़ भाड़ और ट्रैफिक जाम वाली सड़कों पर आसानी से चल लेती है। अगर ट्राम की पटरियों को सड़क मार्ग के बीच से बार क्रास करा कर सड़क मार्ग के बीच में या दाहिने बाएं पटरियां बनाई जाएं तो ये निर्बाध रुप से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकती है। जबकि मेट्रो ट्रेनों की रफ्तार 80 किलोमीटर प्रति घंटे तक है।

ट्राम का संचालन एक ही मार्ग पर हर दो मिनट के अंतराल पर किया जा सकता है। कोलकाता में ट्राम मैदान से खिदिरपुर के बीच रिजर्व ट्रैक पर चलती है। बाकी इलाकों में सड़क के साथ आंखमिचौनी खेलती हुई चलती है।
 कोलकाता ट्राम के कोच - कोलकाता की ट्राम सेवा के लिए कोच (कार) का निर्माण कोलकाता की ही  जोसेप एंड कंपनी करती है। पहले ट्राम कोच का निर्माण बर्न स्टैंडर्ड कंपनी करती थी। ट्राम को बिजली के रेलगाड़ी या मेट्रो की तरह ओवरहेड वायर से बिजली दी जाती है। इसका इंजन 550 वोल्ट डीसी करेंट से चलता है। इसमें एयर कंप्रेशर ब्रेक लगाए गए हैं। 64 हार्स पावर के दो इंजन के साथ इसकी अधिकतम गति 60 किलोमीटर प्रतिघंटा है। ट्राम के खींचने की क्षमता 16 टन है। फिलहाल सीटीसी के पास 297 ट्राम कोच हैं। इनमें से 125 रोज चलते हैं। कोलकाता में कुल सात ट्राम के डिपो हैं।

जोसेप एंड कंपनी द्वारा निर्मित ट्राम कार। 
ट्राम के भविष्य पर संकट - बस आपरेटरों की लॉबी चाहती है कि कोलकाता शहर से ट्राम सेवा बंद कर दी जाए। कोलकाता की ट्राम सेवा आदर्श है। इसे बंद करने के बजाए ऐसी ही ट्राम सेवा देश के उन सभी शहरों में चलाने पर विचार करना चाहिए जिनकी आबादी दस लाख से ज्यादा है। 

कोलकाता में ट्राम के प्रमुख मार्ग
एस्प्लानेड यानी धर्मतल्ला ट्राम का मुख्य जंक्शन है। यहां से हर तरफ के लिए ट्राम सेवा उपलब्ध है। 
-    एस्प्लानेड से बेलगछिया        -    एस्प्लानेड से बीबीडी बाग
-    एस्प्लानेड से बेहाला     -    एस्प्लानेड से खिदिरपुर
-    बेलगछिया से बीबीडी बाग
-    विद्युत प्रकाश मौर्य
( KOLKATA, BENGAL, TRAM, RAIL ) 

No comments:

Post a Comment