Monday, February 24, 2014

नैना देवी - जो देती हैं रोशनी

मां जोता वाली यानी नैना देवी। नैना देवी का मंदिर हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में शिवालिक पर्वत पर  है। नैना देवी नौ देवियों और 51 शक्तिपीठों में से एक हैं। वैसे यहां पहुंचने का सुगम रास्ता पंजाब के रुपनगर जिले में नंगल से निकट है। जो श्रद्धालु आनंदपुर साहिब जा रहे हों तो वहां से नैना देवी कुछ किलोमीटर की ही दूरी पर हैं। आनंदपुर साहिब के आगे नंगल आता है। वही नंगल जहां भाखड़ा नदी पर विशाल भाखड़ा डैम बना है। इस डैम से होकर नैना देवी का रास्ता आगे जाता है। 

नंगल के आगे का आप पंजाब से हिमाचल प्रदेश में प्रवेश कर जाते हैं। आगे का रास्ता पहाड़ी है। नैना देवी के मंदिर तक पहुंचने के लिए श्रद्धालुओं को बस स्टाप से 500 से ज्यादा सीढ़ियां चढ़नी पड़ती हैं। ये सीढ़ियां हालांकि सीधी नहीं हैं। घुमावदार सीढ़ियों के आसपास लोगों के घर और बाजार भी आते हैं। आप धीरे धीरे आराम फरमाते हुए नैना देवी के दरबार तक पहुंच सकते हैं। वहीं बस स्टैंड से नैना देवी तक रोपवे से भी पहुंचा जा सकता है। इसका टिकट सौ रुपये प्रति व्यक्ति ( टैक्स अतिरिक्त) है। http://www.nainadeviropeways.com/

नैना देवी की कहानी नैना देवी देश के 51 शक्तिपीठों में से एक है। कहा जाता है कि यहां सती के दो नेत्र गिरे थे इसलिए नाम है नैना देवी।कहा जाता है कि नैना गूजर देवी का बड़ा भक्त था। जब अपनी गाय चराते हुए वह वर्तमान मंदिर स्थल के पास पहुंचा तो उसकी अनब्याही गायों से अपने आप दूध निकलने लगे। इसे देवी का चमत्कार मानकर उस स्थल को हटायातो वहां पिंडी रूप में उसे देवी के दर्शन हुए। तब माता ने उसे सपने में आकर इस स्थल पर मंदिर बनवाने को कहा। नैना देवी के मंदिर में श्रावण मास के अष्टमी पर सर्वाधिक श्रद्धालु पहुंचते हैं।


नैना देवी के मंदिर के पास रहने के लिए धर्मशाला उपलब्ध है। वहीं मंदिर के आसपास के लोग श्रद्धालुओं को उचित राशि लेकर अपने घरों में ठहरने के लिए कमरा देते हैं। नैना देवी मंदिर प्रशासन की ओर से श्रद्धालुओं के लिए निशुल्क लंगर भी चलाया जाता है। लंगर का समय तय है। नैना देवी की चढ़ाई में थकान हो जाती है। इसलिए कई श्रद्धालु यहां पहुंचने और मंदिर दर्शन के बाद यहीं रूक जाना पसंद करते हैं। नैना देवी की पहाड़ी से रात को आनंदपुर साहिब शहर का नजारा जरूर करें। पूरा शहर दिवाली मनाता हुआ नजर आता है। नवरात्र के समय नैना देवी मंदिर में काफी भीड़ होती है। अगर बाकी समय में यहां पहुंचते हैं तो दर्शन आसानी से हो जाता है। पंजाब के रुपनगर जिले की वेबसाइट पर नैना देवी के बारे में जानकारी -
अन्य वेबसाइटों पर नैना देवी के बारे में जानकारी -  


-    विद्युत प्रकाश मौर्य 
(NAINA DEVI, HIMACHAL, PUNJAB, VYAS RIVER, ROAPWAY ) 

No comments:

Post a Comment