Monday, February 10, 2014

हेरिटेज पार्क बयां करता है विकास की कहानी

अगरतला राजभवन के पास बने हेरिटेज पार्क में हर मौसम में टहलने का लुत्फ उठाया जा सकता है। इस पार्क में प्रवेश का टिकट पांच रुपये का है। पार्क का मुख्य द्वार काफी कलात्मक है। इस पार्क में पूरे त्रिपुरा के विकास की कहानी को संजोया गया है। त्रिपुरा में रेल नेटवर्क, सड़कों का नेटवर्क, पूरे राज्य का मानचित्र, प्रमुख मंदिर और तीर्थस्थलों के बारे में जानकारी को छोटे-छोटे मिनियेचर के माध्यम से पार्क में दिखाया गया है। पार्क सिर्फ बच्चों को बल्कि बड़े लोगों को भी आकर्षित करता है। इसी पार्क में मेरी तयशुदा मुलाकात अगरतला के दोस्त धीरेश सैनी से होती है। वे वैसे तो मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं पर इन दिनों अगरतला में आशियाना है। उन्होंने शहर के बारे में काफी उपयोगी जानकारियां दीं। शहर में बांग्लादेश के महान कवि काजी नजरूल इस्लाम के नाम पर नजरूल कला केंद्र बना है। यहां अक्सर नाटक होते रहते हैं। कई बार यहां बांग्लादेश के नाटक समूह भी आकर अपने नाटक पेश करते हैं।

वेणुवन बौद्ध विहार - अगरतला शहर के मानचित्र में ठीक बीच में है उज्जयंत पैलेस। इस विशाल किले के चारों तरफ मंदिर बने हैं। किले के अलावा अगर आप कुछ और दर्शनीय स्थलों को देखने जाना चाहें तो राधानगर मोटर स्टैंड के पास रविंद्र सरणी मार्ग पर वेणुवन विहार नामक बौद्ध मंदिर देख सकते हैं। ये सुंदर विहार शहर में बौद्ध धर्म की मौजूदगी दर्शाता है। यहां बुद्ध और बोधिसत्व की धातु की बनी मूर्तियां हैं जो बर्मी मूल की हैं। यहां बुद्ध पूर्णिमा का त्योहार हर साल मनाया जाता है। त्रिपुरा में सबरुम से 25 किलोमीटर आगे मनुबांकुल में महामुनि पैगोडा में भी देखा जा सकता है। यहां श्रीलंका, थाईलैंड म्यामांर और जापान से भी श्रद्धालु आते हैं। वहीं पाछेरताल में उदयन बुद्ध विहार में गौतम बुद्ध की एक और मूर्ति देखी जा सकती है। यह स्थल कुमारघाट रेलवे स्टेशन से 9 किलोमीटर है। यहां हर साल मई में तीन दिनों का बुद्ध मेला लगता है।

मस्जिद खेदू मियां- न सिर्फ हिंदू मंदिर और बौद्ध विहार बल्कि अगरतला शहर में आप सुंदर मस्जिद भी देख सकते हैं। यहां खेदू मियां की मस्जिद देख सकते हैं जो वास्तुकला का सुंदर नमूना है। शहर के मध्य में शिवनगर में स्थित ये मस्जिद अपनी कलात्मकता के लिए जानी जाती है।

चतुर्दश देवता मंदिर - शहर के बाहरी इलाके में  चतुर्दश देवता मंदिर भी अगरतला का एक और मुख्य आकर्षण है। इस मंदिर का प्रबंधन भी सरकार देखती है। मंदिर साफ सुथरा, व्यवस्थित और खूबसूरत है।

-    विद्युत प्रकाश मौर्य
-    टूरिस्ट हेल्पलाइन –0381-2300332 www.tripuratourism.gov.in


(AGARTALA, HERITAGE PARK, DEVELOPMENT STORY, VENUVAN BAUDH VIHAR ) 



No comments:

Post a Comment