Tuesday, December 24, 2013

ये कोहिमा का कीड़ा बाजार है...

नागालैंड में जगह जगह मांस की दुकानें तो मिल ही जाएंगी। इसके साथ ही यहां लोगों में कई तरह के कीड़े खाने का भी चलन है। इन कीड़ों को वैसे ही खाया जाता है जैसे हम अपने घरों में सब्जी और भुजिया बनाकर खाते हैं। राजधानी कोहिमा में सब्जी बाजार की तरह ही कीडा बाजार भी है। यहां तक की बस स्टैंड के आसपास सड़कों पर महिलाएं टोकरी में कई तरह की कीडे़ बेचती नजर आती हैं। ये कीड़े जीवित होते हैं। वे टोकरी में रेंकते रहते हैं। ऐसे कीड़े सिर्फ नागालैंड में ही नहीं बल्कि पड़ोसी राज्य अरुणाचल प्रदेश में भी खाया जाता है।
कोहिमा में सिल्क वर्म खाएंगे क्या...

अभी तक हमने सिल्क वर्म के बारे में जाना था कि यह एक आर्थिक तौर पर उपयोगी कीड़ा है जो रेशम बनाने में प्रमुख कारक है। पर सिल्क वर्म भोजन भी हो सकता है, यहीं आकर पता चला। हमने अपने गांव में कुछ जातियों के बारे में सुना था कि वे चूहा और घोंघा जैसी चीजों को मारकर खाते हैं। पर नागालैंड में तमाम तरह के कीड़ों को मार कर चाव से खाया जाता है। इन कीड़ों में सिल्क वर्म लोगों में काफी लोकप्रिय है। नागा लोगों की इन कीड़ों को पकाने की अपनी विधि है। काफी लोग इसे डिप फ्राई करके खाते हैं। चीन में भी लोग बड़ी संख्या में सिल्क वर्म खाते हैं। आप कोहिमा के कुछ रेस्त्रां में भी सिल्क वर्म की डिश खा सकते हैं। इन पानी देर तक उबालने के बाद प्याज,अदरक, लहसुन, मिर्च आदि के साथ फ्राई करके खाया जाता है।

अगर आप पूर्ण शाकाहारी हैं तो आपको कोहिमा के बाजार में खाने पीने में दिक्कत आ सकती है। हमने बस स्टैंड से आगे बढ़ने के बाद किसी शाकाहारी होटल के बारे में जानकारी लेने की कोशिश की। वहां एक जूता बनाने वाले मोची और एक अखबार बेचने वाले भाई मिल गए जो अपने भोजपुरी इलाके के थे। इन लोगों ने हमें जानकारी दी आप आगे राइजू जंक्सन पर जाएं वहां यूपी राइस होटल है जहां आपको शाकाहारी खाने का विकल्प मिल जाएगा। उनकी सलाह पर मैं यूपी राइस होटल ढूंढता हुआ आगे बढ़ा। होटल का बोर्ड देखकर खुशी हुई। इस होटल को चलाने वाले यूपी के गाजीपुर के हैं। पर इस होटल के मीनू में भी मांस मछली के सारे विकल्प मौजूद थे। 

कोहिमा का एकमात्र होटल जहां चावल, दाल सब्जी और पूरी भी मिल जाती है। 
यहां पर शाकाहारी के नाम पर नास्ते में पूरी सब्जी और खाने में चावल दाल और सब्जी का विकल्प था। मैंने पूरी सब्जी खाना तय किया। सब्जी के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति थी। दाल भी थी काम चलाउ सी थी। पर पूरे कोहिमा में यही एक यूपी राइस होटल है जहां पर शाकाहारी के नाम पर कुछ मिल जाता है। पर उनके बरतनों से भी अंडे की गंध आती रहती है। खाने के बाद मन नहीं भरा, क्योंकि मुझे अंडे से एलर्जी है।



खैर खाने से संतोष तो नहीं हो सका। यहां से आगे बाजार में बढ़ने पर एक मेला लगा हुआ था। इस मेले में अपने देस के लोगों की कुछ दुकानें सजी थीं, जहां पापड़, जलेबियां और समोसे बनाए जा रहे थे। यहां पर हमने कुछ पापड़ खाकर दिल को तसल्ली पहुंचाई।  पर यहां भी अंडे के गंध ने साथ नहीं छोड़ा। अगर आप कुछ दिनों के लिए कोहिमा में हैं और आप शाकाहारी हैं तो आपको दिक्कतें आ सकती हैं।

आगे पढ़िए - शाकाहारी क्या खाएं कोहिमा में... ) 

 - विद्युत प्रकाश मौर्य



( KOHIMA, INSECT MARKET, KIDA BAZAR, SILK WORM, UP RICE HOTEL, NAGALAND, UP RICE HOTEL ) 


No comments:

Post a Comment