Friday, September 6, 2013

कुरुक्षेत्र में राजस्थानी थाली का स्वाद

ब्रह्म सरोवर में आस्था की डुबकी लगाने के बाद भूख लग गई थी। तो सरोवर के पास के बाजार में एक राजस्थानी भोजनालय नजर आए। तो मैं और अनादि वहीं पहुंच गए। दोपहर होने वाली है। खाने वाले ज्यादा नहीं है। हम उनके पहले ग्राहक हैं।

वैसे तो पूरे हरियाणा में आपको पंजाबी खाना हर जगह मिल जाता है। पंजाबी खाने की अपनी अलग विशेषता होती है। तंदूरी रोटी और तेज मसाले। पर राजस्थान का खाना हो तो तवे की रोटी और दाल सब्जी का अपना अलग स्वाद। अगर आप कुरूक्षेत्र में शुद्ध राजस्थानी खाने का भी स्वाद ले सकते हैं। हम पहुंचे ब्रह्रम सरोवर के पास बिरला मंदिर लेन में नए खुले राजस्थान फूड प्लाजा में। 

यहां 50 रुपये की समान्य थाली तो 90 रुपये की स्पेशल थाली है। हमने मंगाई स्पेशल थाली। चपाती बनाई गई थी राजस्थानी स्टाइल में। यानी इसमें कसूरी मेथी का स्वाद। घी चुपड़ी और अपेक्षाकृत मोटी। बस मजा आ गया। साथ में चावल, पनीर की सब्जी, आलू की सब्जी, दाल, रायता, दो मिठाइयां, पापड़, सलाद और अचार। और क्या चाहिए। वैसे आप थाली के अलावा यहां अपनी पसंद के मुताबिक खाने का अलग अलग आर्डर भी दे सकते हैं। 

राजस्थान फूड प्लाजा में भी शाम को गोलगप्पे, टिक्की चाट खाए जा सकते हैं। ( फोन- 07206668721, 07206667781)
हमें बातों बातों में पता चला कि कुरुक्षेत्र में सालों भर बड़ी संख्या में राजस्थान से श्रद्धालु भी आते रहते हैं। इसलिए यहां कई राजस्थानी भोजनालयो का संचालन होता है।

वैसे कुरुक्षेत्र की सड़कों पर शाम को स्ट्रीट फूड का भी मजा ले सकते हैं। अगर आप सुबह-सुबह कुरुक्षेत्र में हैं तो कई जगह नास्ते में पंजाबी पराठे का भी स्वाद ले सकते हैं। पंजाबी पराठा बोले तो नास्ते में एक ही काफी है। अगर आपने दो खा लिया तो खाने के बराबर हो गया। 

आटो से घूमे कुरुक्षेत्र -  कुरुक्षेत्र के सभी प्रमुख दर्शनीय स्थल घूमना हो तो सबसे सुगम साधन एक आटो रिक्शा बुक कर लेना है। सारे मंदिर और दर्शनीय स्थल कुछ किलोमीटर की दूरी पर हैं, इसलिए पैदल या सार्वजनिक वाहन से घूम माना सहज नहीं है। यहां आटो रिक्शा वालों से मोलभाव करके हमने 200 रुपये में सभी प्रमुख स्थलों को घूमाने का तय कर लिया।आप अगर कुरुक्षेत्र घूमने पहुंचे हैं तो कम से कम दिन भर का समय अपने पास इस शहर के लिए निकाल कर रखें।  
-    
---  विद्युत प्रकाश मौर्य 
   ( RAJSTHANI VEG FOOD IN KURUKSHETRA)  




No comments:

Post a Comment