Saturday, December 15, 2012

चॉकलेट और चाय मतलब ऊटी


ऊटी के आसपास नीलगिरी के हसीन वादियों में कई बड़े चाय के बगान हैं। इन बगानों से निकलने वाली चाय कहलाती है नीलगिरी की चाय। वैसे तो चाय जहां की भी हो उसका स्वाद कुछ अलग होता है। देश भर में हम जो चाय पीते हैं ज्यादातर असम से आती है। लेकिन दार्जिलिंग, कांगड़ा घाटी और नीलगिरी में भी चाय के बगान जहां की चाय का स्वाद अलग होता है। ऊटी शहर में नीलगिरी की चाय की खूब दुकाने हैं। यहां से आप नीलगिरी की डस्ट और लीफ चाय खरीद सकते हैं। नीलगिरी में अलग अलग स्वाद की चाय भी आपको मिलेगी। जैसे सुपर स्ट्रांग टी, ब्लैक टी, ग्रीन टी अदरक चाय, लहसून चाय, मसाला चाय। जितनी आप खरीद सकें साथ लेते जाइए क्योंकि ऐसी चाय आपको अपने शहर में नहीं मिलेगी।


लेकिन ऊटी जाना जाता है अपने खास तरह के चाकलेट के स्वाद के लिए। वैसे तो चाकलेट पूरी दुनिया में बिकते हैं लेकिन ऊटी ने पहचान बनाई है घर के बने नॉन ब्रांडेड चाकलेट से। पूरे ऊटी शहर में आपको ऊटी के हाथ से बने चाकलेट बिकते नजर आएंगे। ऊटी की दुकानों में ये चाकलेट 130 रुपये किलो से लेकर 300 रुपये किलो के बीच हैं। यानी ब्रांडेड चाकलेट से काफी सस्ता। लेकिन अलग-अलग स्वाद के इन चाकलेट्स का स्वाद आपको किसी भी ब्रांडेट चाकलेट से बेहतर लगेगा। अगर आप ऊटी पहुंचे हैं तो चाकलेट जरूर खाएं। जमकर खाएं क्योंकि ले तो नहीं जा सकते।


हिल स्टेशन होने के कारण ऊटी में बड़ी संख्या में नव विवाहित युगल हनीमून मनाने पहुंचते हैं। आप भी अपने प्यार के साथ ऊटी पहुंचे हैं तो रिश्तों में गर्माहट लाने के लिए प्रेयसी ( पत्नी) को चाकलेट जरूर गिफ्ट कीजिए और रिश्तों में नजदीकियां महसूस किजिए। अगर बहुत ठंड लग रही हो तो चाकलेट के साथ एक कप नीलगिरी की चाय का स्वाद लिजिए और खो जाइए प्यार भरी बातों में। जी हां चाकलेट और चाय यही तो है ऊटी।

-    -  विद्यत प्रकाश मौर्य- vidyutp@gmail.com

( ( OOTY, TEA, CHOCOLATE, TAMILNADU )

1 comment:

  1. आपके द्वारा परोसी गयी जानकारी हम जैसे लोगों का ज्ञानवर्धन करती है. बहुत खूब विद्युत भाई.

    ReplyDelete