Wednesday, November 28, 2012

मां पार्वती का मंदिर- मीनाक्षी मंदिर


मदुरै का मीनाक्षी मंदिर दक्षिण भारत के सबसे बड़े परिसर वाले मंदिरों में से एक है। 

स्थापत्य कला की दृष्टि से इसे भारत के सात आश्चर्यों में से एक माना जाता है। मंदिर का पूरा नाम मीनाक्षी सुंदरेश्वर मंदिर है। मीनाक्षी यानी देवी पार्वती का रुप और सुंदरेश्वर यानी शिव। कहा जाता है एक जन्म में पार्वती मीनाक्षी के रुप में तमिल प्रदेश में एक राजा के घर में पैदा हुईं तो शिव सुंदरेश्वर के रुप में। इस जन्म में मीनाक्षी को सुंदरेश्वर को पाने के लिए तपस्या करनी पड़ी।
मीनाक्षी मंदिर मदुरै रेलवे स्टेशन से महज आधा किलोमीटर है। अगर आप मदुरै में सिर्फ मीनाक्षी मंदिर देखना चाहते हैं तो अपना सामान क्लाक रुम में जमा करके मंदिर दर्शन के बाद अगले शहर को प्रस्थान कर सकते हैं। या फिर रेलवे स्टेशन और मंदिर के आसपास भी सस्ते आवास मिल सकते हैं। मंदिर के आसपास दुकानों में भी क्लाक रुम की सुविधा है। मंदिर में मोबाइल कैमरे भी वर्जित हैं। कैमरे का इस्तेमाल शुल्क देकर किया जा सकता है। दक्षिण के अन्य मंदिरों की तरह यहां भी ड्रेस कोड है। पर पुरुषों के लिए बंदिश नहीं महिलाएं शार्ट्स या स्कर्ट आदि पहन कर मंदिर में प्रवेश नहीं कर सकती हैं।
मंदिर में दर्शन लिए श्रद्धालुओं की सालों भर भीड़ होती है। मीनाक्षी मंदिर में सुबह और शाम दर्शन किए जा सकते हैं। दोपहर में मंदिर बंद होने के बाद शाम को पांच बजे खुलता है। कई एकड़ में बने मीनाक्षी मंदिर में चार प्रवेश द्वार हैं। हर प्रवेश द्वार पर विशाल गोपुरम है। इन गोपुरम में देवी देवताओं के प्रतिमाएं हैं। मंदिर परिसर में मुख्य मंदिर के अलावा गणेश और भगवान शिव के भी मंदिर हैं। पूरा मंदिर पत्थरों से बना है। मंदिर परिसर में यज्ञशाला और रंगमंडप भी है।

 हर रोज शाम के मंदिर में देवी की स्तुति में गायन और नृत्य के कार्यक्रम भी होते हैं। मंदिर परिसर में गजराज महाराज भी भक्तों को आशीर्वाद देते नजर आते हैं। हमने भी मंदिर की नृत्यशाला में सांस्कृतिक आयोजन का रसास्वादन किया। 
मीनाक्षी मंदिर में प्रवेश करने वाले श्रद्धालु ये याद रखें कि उन्होंने कौन से द्वार से प्रवेश किया था। फिर वापस भी उसी द्वार से निकलें। वर्ना गलत द्वार से बाहर होने पर आप शहर के किसी और इलाके में पहुंच सकते हैं।
-    विद्युत प्रकाश
( MINAXI TEMPLE, MADURAI) 

No comments:

Post a Comment