Wednesday, September 19, 2012

अगले साल होगी रज्जो की शादी (20)

( चंबल 20) 

रज्जो चायना के उम्र की ही है। चायना की प्रिय सहेली है लेकिन आजकल कुछ अनबन चल रही है। उम्र दस साल की है लेकिन रज्जो की शादी तय हो गई है। गांव के ही 12 साल के बच्चे मांगी से। अगले साल रज्जो की शादी होगी। फिर तीन या पांच साल बाद गवना भी हो जाएगा। तभी जब कभी मांगी नजर आता है रज्जो उससे थोड़ा दूर ही रहती है। अपने होने वाले पति से शर्माती जो है... मुझे अपनी यूनिवर्सिटी याद आती है जहां एमए में पढ़ने वाली लड़कियां बेतकल्लुफ होकर आइसक्रीम खाते हुए प्लान बनाती हैं चलो कोई मूवी देख आते हैं। इस उम्र में आते आते यहां की लड़कियां तो कई बच्चों की मां बन जाती हैं। शरत के उपन्यास के पात्रों की तरह गांव की लड़कियां 13 से 14 साल की होते होते सिर्फ चूल्हा चौका ही नहीं पूरा घर संभालने लगती हैं। गांव की लड़कियों में बचपना नहीं नजर आता। अभी उम्र खेलने कूदने की है लेकिन इस उम्र में वे घर की जिम्मेवारी में हाथ बंटाने लगती हैं। वे अपना दायित्व खूब समझती हैं।


चंबल नदी की ओर आते जाते गांव की औरते मुझसे पूछती हैं..हुरे मास्टर तुम्हारी उमर का होवेगी..मैं कहता हूं 19 साल । दिग्विजय नाथ से भी पूछती हैं वे बताते हैं 22 साल। तुम्हारी शादी हो गई...हम जवाब देते हैं नहीं। तब वे कहतीं हैं तो अभी तक तुम रंडुवे ढोल हो....कब होवेगी तुम्हारी शादी...हम बताते हैं कि यही कोई पांच सात साल बाद। तब वे बोलती हैं कि हुरे मां...तब तक तो तुम लोग बूढ़े हो जाओगे। गांव में 20 साल का हो जाने पर शादी नहीं होना अचरज की बात है।

वास्तव में गांव का सबसे उम्र दराज बैचलर काडु ही है। काडु की उम्र 18 साल है। इसलिए गांव की सारी भाभियां काडु को चिढ़ाती हैं। वैसे अगले लगन में काडु के भी फेरे लग ही जाएंगे।

-  ------  विद्युत प्रकाश मौर्य -vidyutp@gmail.com
(( KIR KA JHOPDA, BAGADIA, CHAMBAL, RAJJOO, SHADI ) 
-     चंबल संस्मरण को शुरुआत से पढ़ने के लिए यहां पहुंचे। 

No comments:

Post a Comment