Saturday, November 5, 2016

अरुणाचल में होता है उम्दा किस्म का कीवी

कीवी को आप आमतौर पर आप न्यूजीलैंड से आने वाला फल मानते हैं। पर अब बड़े पैमाने पर कीवी की खेती अरुणाचल प्रदेश में हो रही है। अरुणाचल प्रदेश के जीरो घाटी में कीवी की खेती हो रही है। अरुणाचल में पैदा होने वाला कीवी सस्ता भी है। जीरो के बाजार में 80 रुपये में एक किलो से लेकर 120 रुपये किलो तक बिक रहा था। 

नहारलागून में भी कीवी की बिक्री हो रही थी। कीवी बेच रहे दुकानदारों ने बताया कि आप इस ले जाएं दो दिन बाद ये खाने लायक हो जाएगा। लोअर सुबानसिरी जिले के अलावा अरुणाचल के वेस्ट कामेंग जिले में भी कीवी की खेती हो रही है। जीरो जाते समय गाड़ी में हमारी मुलाकात एमबीए के छात्र सीवोह से हुई। उन्होंने बताया कि वे अरुणाचल में कीवी की खेती पर शोध करने में जुटे हैं। सीवोह बताते हैं कि हमारे देश में उम्दा किस्म का कीवी होता है पर लोग न जाने क्यों न्यूजीलैंड का काफी महंगा कीवी खरीदने  गर्व महूसस करते हैं।
भारत में न्यूजीलैंड का फल कीवी इतना पसंद किया जाने लगा है कि पिछले कुछ सालों से उत्तर-पूर्वी राज्य अरुणाचल प्रदेश के किसान कीवी की खेती की तरफ मुखातिब हो रहे हैं। कीवी की खेती के लिए अरुणाचल का मौसम काफी मुफीद है।

कीवी फल को एक चीनी करौदे के रूप में भी जाना जाता है। देखने में पहली नजर में अनाकर्षक लगता है। लेकिन इसके रोएंदार बाहरी भाग के अंदर स्वादिष्ट खजाना छिपा होता है। यह एक सुंदर हरा फल है जिस पर काले बीजों के धब्बे होते हैं। कीवी फल दिखने में चीकू जैसा भी लगता है। पर यह विटामिन सी से भरपूर होता है। डॉक्टरों के मुताबिक रोजाना एक कीवी खाने से व्यक्ति की उम्र लंबी होती है। इतना ही नहीं यह सेक्स लाइफ को एक नए मुकाम तक पहुंचाने में काफी मददगार भी साबित होता है।

विटामिन से भरपूर कीवी - कीवी फाइबर, विटामिन ई, विटामिन सी, एंटीआक्सीडेंट्स, फ़ोलिक एसिड, कैरोटेनाइड्स और कई प्रकार के मिनिरल्स होते है। कीवी खाने से खून में पाए जाने वाले ट्राइग्लिसराइड्स, वह वसा जो नुक्सानदेह कोलैस्ट्राल के अंश होते हैं उनको भी कम करता है।

कई रोगों में लाभकारी - कीवी अनेक जटिल रोगो में बहुत लाभकारी है। एक शोध में पाया है कि रोज कीवी फल खाने से दिल की बीमारियों का खतरा काफी कम हो जाता है। कीवी शरीर में नुकसान पहुंचाने वाली वसा को कम करता है बल्कि खून को पतला रखकर थक्का जमने की संभावना भी कम करता है। अगर कोई व्यक्ति लगातार 25 दिनों तक रोज दो या तीन कीवी खाता है तो उसके शरीर में वसा जमा होने तथा खून का थक्का जमने की संभावना काफी घट जाती है।

भारत हर साल 4000 टन कीवी का आयात न्यूजीलैंड, इटली और चीली से करता है। इसका लोकप्रिय ब्रांड जेसप्री है। वहीं अरुणाचल प्रदेश में होने वाला कीवी अंतरराष्ट्रीय बाजार से 30 फीसदी से ज्यादा सस्ता है। पर गुणवत्ता में यह किसी तरह कमतर नहीं है। अरुणाचल हर साल 4720 मिट्रिक टन कीवी का उत्पादन करता है। देश में हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड और केरल में भी कीवी का उत्पादन हो रहा है।

-vidyutp@gmail.com

( KIWI FARMING , ARUNCHAL PRADESH )   

1 comment: