Wednesday, September 14, 2016

राजीव गांधी वाटर स्पोर्ट्स कांप्लेक्स की शाम ((34))

पोर्ट ब्लेयर शहर यहां धड़कता हुआ सा प्रतीत होता है। राजीव गांधी वाटर स्पोर्ट्स कांप्लेक्स। इसे लोग मरीन कांप्लेक्स भी कहते हैं। इसका नाम अबरडीन जेट्टी भी है। यहां भारत के युवा प्रधानमंत्री रहे राजीव गांधी की प्रतिमा लगी है।  मुख्य द्वार पर राजीव गांधी की तस्वीर के साथ लिखा है- मैं एक युवा हूं और मेरे भी सपने भारत के युवाओं की तरह हैं। इस परिसर में अबरडीन युद्ध स्मारक, सुनामी यादगारी स्मारक बना है, साथ ही एक छोटा सा ट्रैफिक पार्क और कैफेटेरिया भी है। दोपहर से शाम तक पोर्ट ब्लेयर के प्रेमी प्रेमिका यहां नजर आ जाते हैं तो सैलानियों से यह कांप्लेक्स हमेशा गुलजार रहता है। सुबह 9 से 12 बजे तक यहां रॉस और नार्थ बे जाने के लिए फेरी सेवाएं चलती रहती हैं। तो देर शाम तक लोग यहां वाटर स्पोर्ट्स का मजा लेते हैं।
आप यहां पर स्पीड बोट पर सैर का आनंद ले सकते हैं। इस स्पीड बोट में आपको ड्राइविंग सीट पर बिठा दिया जाता है। खुद सहायक आपके पीछे खड़ा होता है। इन नावों में यामहा का इंजन लगा है। बोट 60 किलोमीटर प्रति घंटा से स्पीड में पानी पर कुलांचे मारता है। देखने वाले को भी खूब रोमांच आता है। इस तरह के बोट पर हमने दीव में सवारी की थी। यहां देख देख कर ही मजे ले रहा हूं। 15 मिनट के स्पीड बोट राइड के 300 रुपये वसूले जा रहे हैं यहां। पर सैलानी खूब इस तरह के राइड का मजा ले रहे हैं।
अब यहां से नए नए लग्जरी क्रूज भी चलने लगे हैं जो खाने नास्ते और मनोरंजन के साथ आपको आसपास के द्वीपों की सैर कराते हैं। इन क्रूज के मौसम के हिसाब से अलग अलग तरह के पैकेज हैं। राजीव गांधी वाटर स्पोर्ट्स कांप्लेक्स अबरडीन बाजार या सेल्युलर जेल से टहलते हुए पहुंचा जा सकता है। आपके पास खाली समय है तो यह टाइम पास के लिए भी काफी अच्छी जगह है।  शाम को समंदर की लहरें और मनोरंजन करते लोगों को देखते हुए आप वक्त गुजार सकते हैं। यहां से रॉस द्वीप औ नार्थ बे द्वीप का सुंदर नजारा दिखाई देता है। साथ ही अंदमान शहर की मरीन ड्राईव की लंबी सड़क भी दिखाई देती है।

राजीव गांधी वाटर स्पोर्ट्स कांप्लेक्स परिसर में एक कैफेटेरिया भी है। जहां आप थोड़ी सी पेट पूजा कर सकते हैं। सड़क के किनारे गोल गप्पे का स्वाद ले सकते हैं। ज्यादा भूख लगे तो अबरडीन बाजार की ओर चल पड़िए। वाटर स्पोर्ट्स कांप्लेक्स के बाहरी दीवार की तरफ जल जीव शाला और एक बड़ा रेस्टोरेंट भी है, जहां सी फूड का आनंद लिया जा सकता है।
पोर्ट ब्लेयर में गोलगप्पा का स्वाद भी लें....

सुनामी के लिए चेतावनी सिस्टम -  साल 2004 में सुनामी के बाद यहां पर एक चेतावनी सिस्टम शुरू किया गया है। मरीन कांप्लेक्स के दायरे में लगे लाउड स्पीकर पर समय समय पर सुनामी आने पर क्या करें और क्या न करें, कैसी कैसी सावधानी बरतें इसकी जानकारी  दी जाती है। पहली बार मुझे ये चेतावनी सुनकर लगा कि मानो सुनामी आने वाला हो। पर बाद में पता चला कि ये रूटीन में लोगों की जानकारी में इजाफा करने के लिए ऐसी चेतावनी दी जाती है। 

No comments:

Post a Comment