Thursday, August 25, 2016

अंदमान का नारियल पानी...ऐसी मिठास और कहां... ((19))

वैसे तो नारियल पानी देश के तमाम राज्यों में मिलता है पर अंदमान के नारियल पानी की बात की कुछ अलग है। ऐसी मिठास कहीं और नहीं। और एक नारियल में 750 मिली लीटर से एक लीटर तक पानी होता है। इतना की पीकर आप अघा जाएं। इतना सब कुछ महज 20 रुपये में। मैं एक हफ्ते के अंदमान प्रवास में रोज नारियल पानी पीता रहा। भला इतना सस्ता नारियल पानी मिल रहा हो तो बोतल बंद पानी पीने की क्या जरूरत। और नारियल पानी पीने के जो फायदे हैं वह कहीं और कहां मिल सकता है। प्रकृति ने अंदमान के नारियल पानी में जो मिठासी बरसाई है वह अन्यत्र दुर्लभ है।
एयरपोर्ट से उतरते ही पहले दिन डेयरी फार्म के पास एक नारियल पानी पीया उसके बाद इसका मुरीद हो गया। कसम से ऐसा स्वाद केरल, कांचीपुरम, रामेश्वरम, मदुरै, कन्याकुमारी या फिर बंगाल में कहीं नहीं मिला था।
हैवलॉक - इस तरह लगते हैं नारियल के नए पौधे। 

तो आइए जान लेते हैं नारियल पानी के कुछ फायदों के बारे में। कहा जाता है कि नारियल के पानी में दूध से ज्यादा पोषक तत्व होते हैं, क्योंकि इसमें कोलेस्ट्रोल और वसा की मात्रा नहीं होती है। नारियल पानी में कई प्रकार के गुण पाए जाते हैं। नारियल पानी (इलानीर) एक प्राकृतिक और पोषण तत्वों से समृद्ध लवण युक्त (आइसोटॉनिक) पेय माना गया है। नारियल पानी इलैक्ट्रोलाइट्स, क्लोराइड्स, पोटेशियम और मैग्निशियम से भरपूर होता है। इसमें सीमित मात्रा में चीनी, सोडियम और प्रोटीन भी होता है।
नारियल पानी पीने के अनेक फायदे   

पाचन तंत्र को ठीक रखता है - नारियल पानी पीने के बाद काफी देर तक भूख भी नहीं लगती। इस तरह से यह वजन काबू में रखने में फायदेमंद होता है।  नारियल पानी नेचुरल मॉश्चराइजर भी है। इसके सेवन से मांस-पेशियों की ऐंठन भी दूर होती है। नारियल पानी पीने से इम्यून सिस्टम अच्छा रहता है। साथ ही इसमें मौजूद साइटोकिनीन बढ़ती उम्र के लक्षणों को आने से रोकता है। शरीर में पानी की कमी हो जाने पर या फिर शरीर की तरलता कम हो जाने पर, डायरिया हो जाने पर, उल्टी होने पर या दस्त होने पर नारियल का पानी पीना फायदेमंद रहता है।

रक्तचाप नियंत्रण में -  हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए भी नारियल के पानी का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें मौजूद विटामिन सी, पोटैशियम और मैग्नीशियम ब्लड-प्रेशर को नियंत्रित रखने में सहायक होते हैं। साथ ही ये हाइपरटेंशन को भी नियंत्रित करने में सहायक होता है। कोलेस्ट्रॉल और फैट-फ्री होने की वजह से ये दिल के लिए बहुत अच्छा होता है। 

एंटी-ऑक्सीडेंट गुण - इसके साथ ही इसका एंटी-ऑक्सीडेंट गुण भी सर्कुलेशन पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। दिल्ली में डाक्टर डेंगू और टायफायड होने पर नारियल पानी पीने की सलाह देते हैं। यह खून में प्लेटिलेट्स की मात्रा को तेजी से बढ़ाता है। तो जहां मौका मिले जरूर पीएं नारियल पानी।
अंदमान में नारियल तेल बनाने का उद्योग भी है। आप यहां से लौटते समय पैक नारियल तेल खरीद कर घर के लिए ले जा सकते हैं। मैंने भी खरीदा नसीम ब्रांड का नारियल तेल का एक डिब्बा अपने घर के लिए।
-         vidyutp@gmail.com



6 comments:

  1. बहुत अच्छी जानकारी।

    ReplyDelete
  2. वाह जी , क्या बात है , इधर दिल्ली जैसे शहरों में नारियल पानी पीने का चलन बढ़ा है फिर आपने तो मीठे मीठे नारियल पानी की बात करके मुंह में पानी ला दिया | हालांकि मुझे लगता है सरकार को अपने इन देसी फलों की ब्रांडिंग करनी चाहिए ..ये पेप्सी कोला का तो गोला बन जाएगा , खैर , सुन्दर पोस्ट लगी आपकी और ब्लॉग भी , अगर अनुसरक नहीं हूँ तो बन जाता हूँ

    ReplyDelete