Saturday, August 13, 2016

अंदमान- मसाला डोसा और बिना कांटे वाली मछली ((12 ))


अंदमान भले की एक द्वीप राज्य है, और मुख्य भारतभूमि से दूर है पर यहां खाने पीने को लेकर कोई समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। आपकी पसंद का हर तरह का भोजन यहां मिल जाता है।  चाहें तो आप सी फूड का स्वाद लें या फिर अपनी पसंद के शाकाहारी भोजन का। आपके सामने कई विकल्प मौजूद हैं। अंदमान प्रवास के पहले दिन हमने एक बंगाली होटल में रात का खाना खाया। तवे की चपाती और आलू मसाला की फ्राई सब्जी। हालांकि यह खाना कुछ खास रूचिकर नहीं लगा। दूसरे दिन सुबह सुबह नास्ते में पराठा मिल गया। पर यह पराठा दक्षिण भारतीय स्टाईल का था। ऐसा पराठा जो चावल के आटे का होता है, मैं अभ्यस्त था इसे खाने के लिए कोई दिक्कत नहीं हुई। दोपहर का खाना तो हैवलाक में राधानगर बीच में खाया ही था रात को खाने के लिए अबरडीन बाजार के सड़कों पर घूमना शुरू किया। 
शाम को मोहनपुरा बस स्टैंड से पहले जलेबी और समोसे की दुकान मिल गई। एक दंपति इस दुकान को चला रहे थे। जलेबियां क्या कहने। मुझसे रहा नहीं गया। रात को मुझे एक साउथ इंडियन रेस्टोरेंट मिल गया। होटल धनलक्ष्मी के नीचे और बैकुंठ मंदिर के बगल में। नाम थोड़ा टेढा है पर खाने के स्वाद का जवाब नहीं। होटल काटाबोमान। दक्षिण भारतीय खानेपीने के लिए पोर्ट ब्लेयर का बेहतरीन होटल। दिन में यहां मिल्स में 80 रुपये की थाली में कई तरह की वेराइटी मिल रही थी। वहीं कम खाना हो तो 50 रुपये में लेमन राइस या कर्ड राइस का विकल्प है। रात्रि में मसाला डोसा 60 रुपये का। इसके अलावा डोसा के कई और वेराइटी। आप पूरी सब्जी की प्लेट ले सकते हैं 50 रुपये में। अंदमान प्रवास के दौरान होटल काटाबोमान मेरे लिए खाने की सबसे प्रिय स्थली रही। कभी तो थाली तो कभी मसाला डोसा।


वैसे इसी सड़क पर थोड़ा आगे अन्नपूर्णा कैफेटेरिया है। यह पोर्ट ब्लेयर का लोकप्रिय फूड ज्वाएंट है। यहां वातानूकुलित रेस्त्रां उपलब्ध है। खाने की दरें थोड़ी महंगी हैं। पर आप अच्छे एंबीएंस के लिए यहां पहुंच सकते हैं। अबरडीन चौराहा पर स्थित है होटल गगन एंड रेस्टोरेंट। इस होटल में आप शाकाहारी और मांसाहारी दोनों तरह का स्वाद ले सकते हैं। गगन होटल में एक दिन सुबह नास्ता किया। पराठे और पूरियां। यहां मछलियों की कई वेराइटी के अलावा मिठाइयां भी खा सकते हैं। होटल गगन स्थानीय लोगों में भी काफी लोकप्रिय है। यह सेल्युलर जेल से भी काफी दूर नहीं है। मिलन गगन में मुझे लंच या डिनर करने का मौका नहीं मिल सका। 

पोर्ट ब्लेयर वैसे सी फूड के लिए काफी प्रसिद्ध है। तो एक दिन हमने सी फूडा का भी स्वाद लिया। अबरडीन बाजार में ही होटल मिलन में। 100 रुपये की थाली में मछली ग्रेवी वाली। अगर शाकाहारी थाली लें तो चावल की थाली है 70 रुपये की। आप अलग अलग आर्डर भी दे सकते हैं। मिलन होटल पोर्ट ब्लेयर का अति लोकप्रिय खाने पीने का स्थल है। होटल के साथ इनका मिलन बेकरी भी है। डायनिंग हॉल भी काफी बड़ा है।

 दिल्ली से चलते समय बेटे अनादि ने मना किया था कि आप वहां सी फूड मत खाना इसलिए मैंने इससे बचने की कोशिश की। बेटे की सलाह इसलिए थी कि कहीं मैं बीमार न पड़ जाउं। पर एक दिन मछली खाई मिलन होटल में। अचरज की बात थी कि मछली में एक भी कांटा नहीं था। आप चाहें तो मछली को पनीर की तरह चम्मच से काट कर खा लें। 
पोर्ट ब्लेयर के हर चौक चौराहे पर गोलगप्पे की दुकानें भी खूब हैं। लोग खूब गोलगप्पे खाते हैं। कहीं 10 रुपये में 10 गोलगप्पे तो कहीं 10 के सात। एक दिन हमने भी गोलगप्पे का स्वाद लिया। 
- विद्युत प्रकाश मौर्य - vidyutp@gmail.com 

(ANDAMAN, PORT BLAIR, GOOD FOOD, GOLGAPPA, FISH, DOSA) 
अंदमान की यात्रा को पहली कड़ी से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।  

No comments:

Post a Comment