Wednesday, May 25, 2016

लुभाता है लैंसडाउन का भूला ताल

अगर लैंसडाउन में सबसे खूबसूरत जगह की बात करें तो वह भूला ताल झील। यह एक छोटी सी झील है लेकिन है प्यारी सी। लैंसडाउन के गांधी चौक से पैदल चलते जाएं। कैंटोनमेंट बोर्ड का दफ्तर उसके आगे आर्मी पब्लिक स्कूल और थोड़ा आगे करीब दो किलोमीटर के पैदल ट्रैक के बाद आ जाता है भूला ताल लेक। रास्ते में जगह जगह पथ प्रदर्शक लगे हैं इसलिए आपको रास्ता पूछना नहीं पड़ेगा। 

छोटे से लेक को सुंदर रूप प्रदान करने में गढ़वाल राइफल्स की अहम भूमिका है। भूला ताल लेक गढ़वाल राइफल्स के वीर गढ़वाली फौजियों को समर्पित है। वास्तव में भूला ताल लेक एक चेक डैम है। गढ़वाली में भूला का मतलब है छोटा भाई। गढ़वाली में प्यार से लोगों को भूला कहने का रिवाज है। इसी नाम पर इस झील का नाम भूला ताल रखा गया। इस झील का नया रूप 2003 में एक प्रोजेक्ट के तौर पर दिया गया। झील की लंबाई 35 मीटर है और इसमें 32 लाख गैलन पानी की क्षमता है। बरसात के दिनों में इस झील का सौंदर्य और बढ़ जाता है।

झील में बोटिंग का भी इंतजाम है। इसके लिए 80 रुपये का टिकट लेना पडता है। लिहाजा यह बच्चों का काफी पसंद आता है। झील के चारों तरफ हरे भरे पार्क बनाए गए हैं। इन पार्कों में सुंदर हट बनाए गए हैं। यहां नन्हें खरगोश चहलकदमी करते नजर आते हैं। पार्क के अंदर एक कैंटीन भी है। लोगों के लिए टायलेट का भी इंतजाम है।अगर आप लैंसडाउन से कुछ प्रतीक चिन्हों की खरीदारी करना चाहते हैं तो झील के परिसर में स्थानीय उत्पादों का स्टाल भी है। यहां पर आप मग पर अपनी फोटो भी प्रिंट करा सकते हैं। टाइम पास  के लिए भूला ताल अच्छी जगह है। बैठने के लिए कई बेंच बनी हुई हैं।

खुलने का समयः  झील सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक खुला रहता है। वहीं सर्दियो के दिन में सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक खुला रहता है। बुधवार को झील को रखरखाव के लिए बंद रखा जाता है। झील में प्रवेश के लिए 20 रुपये का टिकट है।  
vidyutp@gmail.com

( LANSDOWNE, BHULA TAL LAKE )   



No comments:

Post a Comment