Saturday, July 18, 2015

हिंदुस्तान के बेहतरीन नजारें देखें बाहुबली में

केरल के त्रिशूर जिले में स्थित अथिरापाली झरना। 
मनोरंजन के लिहाज से साल 2015 की शानदार फिल्म बाहुबली – द बिगनिंग की शूटिंग में हिंदुस्तान के बेहतरीन नजारों को देखा जा सकता है। फिल्म शुरू होती है एक नदी और झरने के बैकड्राप से। ये झरना भारत के केरल राज्य के त्रिशूर जिले में हैं। फिल्म में हीरो प्रभाष को पहाड़ों पर मुश्किल चढ़ाई करते हुए देखा जाता है। इसके लिए प्रभाष ने रॉक क्लाइंबिग का लंबा प्रशिक्षण भी लिया। फिल्म के इस हिस्से को ही शूट करने में 109 दिनों का समय लगा।यानी तकरीबन आधे घंटे के फिल्म के हिस्से की शूटिंग के लिए झरने के आसपास 109 दिनों तक फिल्म की क्रू यहां पर रही। तकनीक के कमाल से झरना फिल्म में और भी भव्य दिखाई दे रहा है। इस झरने को देखकर लोगों के मन में कौतूहल होता है कि आखिर ये झरना है कहां पर...लेकिन ये कोई विदेश का नजारा नहीं है...


तो हम बात कर रहे हैं अथिरापाली वाटर फाल की है। यहां पहाड़ से 80 फीट नीचे जलधाराएं गिरती हैं जो अत्यंत मनोरम दृश्य प्रस्तुत करती हैं। अथिरापाली को भारत का नियाग्रा भी कहा जाता है। ये जलधारा आगे चालकुडी नदी का रुप ले लेती है। यह केरल का लोकप्रिय पिकनिक स्पाट है। इसके पास में छारपा और वाजाचाल वाटर फाल भी पास में देखे जा सकते हैं। अथिरापाली से वाजाचाल की दूरी पांच किलोमीटर है। अथिरापली शोलायार संरक्षित वन क्षेत्र में पड़ता है। आप यहां शोलायार डैम देखने भी जा सकते हैं। अथिरापली में बर्ड वाचिंग और प्राकृतिक सौंदर्य देखने के प्रयाप्त मौके हैं। यहां ट्रैकिंग के अलावा वनऔषधि उद्यान भी देख सकते हैं। यहां आप हिरण, बंदर जैसे वन्य जीव भी देख सकते हैं। अथिरापाली में सैलानियों के लिए व्यू प्वाइंट बनाए गए हैं जहां से झरने का शानदार नजारा दिखाई देता है। पर पानी में उतरना खतरनाक हो सकता है। आप यहां दिए गए निर्देशों का पालन जरूर करें।
इस साइट पर जाकर देखें झरने का लाइव नजारा - https://www.youtube.com/watch?v=A15U9A3hiIY
कैसे पहुंचे – अथिरापाली का निकटतम शहर चलाकुडी है। चलाकुडी रेलवे स्टेशन से अथिरापाली की दूरी 35 किलोमीटर है। त्रिशूर से चलाकुडी की दूरी 30 किलोमीटर है तो एर्नाकुलम (कोचीन) से चलाकुडी की दूरी 43 किलोमीटर है। आप कोचीन में रुककर एक दिन में अथिरापली घूमने की योजना बना सकते हैं। घूमने का समय सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक का है। टिकट 8 से 5 बजे तक प्राप्त किए जा सकते हैं। टिकट दरें 15 रुपये प्रति व्यक्ति है।
कहां ठहरें -  अथिरापाली में रहने के लिए डारमेटरी रेस्ट रूम भी उपलब्ध है। वैसे अथिरापाली में रहने के लिए कई लग्जरी होटल भी उपलब्धहैं। आप चाहें तो कोचीन, चलाकुडी या त्रिशूर में भी ठहर सकते हैं।  http://www.athirapallytourism.org/
करनूल के पास रॉक गार्डन। 

अब बात फिल्म के दूसरे शूटिंग लोकेशन की बादलों की शूटिंग के कुछ लोकेशन महाबलेश्वर से लिए गए हैं, जहां मानसून में बादल सड़कों पर उतर आते हैं। बाहुबली फिल्म में काफी दृश्य आंध्र प्रदेश के करनूल जिले के रॉक गार्डन के हैं। करनूल का रॉक गार्डन करनूल शहर से 20 किलोमीटर आगे एनएच 18 पर ओरवाकाल गांव में स्थित है। यह 100 एकड़ में फैला है। यहां प्राकृतिक रुप से पहाड़ियां हैं जिन्हें देखने लोग पहुंचते हैं। कई फिल्मों की पहले भी शूटिंग हो चुकी है। यहां पर एपटीडीसी की हरिता रेस्टोंरेंट स्थित है। यहां भी आप कुछ घंटे के लिए घूमने जा सकते हैं। प्राकृतिक सौंदर्य देखकर आनंद आएगा।
रामोजी फिल्मसिटी में बाहुबली का सेट। 
फिल्म का ज्यादातर हिस्से की शूटिंग हैदराबाद के रामोजी फिल्म सिटी में की गई है। एक गाना और महिष्मती सम्राज्य का सेट रामोजी फिल्मसिटी में लगाया गया था। वही रामोजी फिल्म सिटी  जहां मैंने साल 2007 में तकरीबन एक साल गुजारा। फिल्म में युद्ध का पूरा दृश्य रामोजी फिल्म सिटी में फिल्माया गया है। इस दौरान 2000 कलाकारों को शामिल किया गया था। हालांकि फिल्म के कुछ हिस्सों की शूटिंग बल्गारिया में भी की गई है, लेकिन ऐसा तमिलनाडु में फिल्म कलाकारों की हड़ताल के कारण करना पड़ा। फिल्म का अधिकतम पोस्ट प्रोडक्शन काम भी रामोजी फिल्मसिटी में हुआ है। यह संयोग ही है कि फिल्म के निर्दशक एस एस राजमौली ने अपना कैरियर भी इनाडू टेलीविजन के धारावाहिकों के निर्देशन के साथ ही शुरू किया था।
vidyutp@gmail.com

  


No comments:

Post a Comment